मॉडलिंग में बनाएं करियर

इस क्षेत्र में काफी युवा अपना करियर तलाश रहे हैं और सफल भी हो रहे हैं। लेकिन मॉडलिंग की दुनिया में कैसे कदम बढ़ाएं, इस बारे में एक्सपर्ट क्या कहते हैं, बता रहे हैं संतोष सिंह
क्या आपके दोस्त आपको ‘मॉडल’ कह कर हल्की-फुल्की छेड़छाड़ करते हैं? अगर हां तो उनकी इस प्यार-भरी छेड़छाड़ को गंभीरता से लीजिए। हो सकता है आप में एक सफल मॉडल बनने के तमाम गुण मौजूद हों और आप अपनी इस प्रतिभा से बेखबर हों। अगर ऐसा है तो मॉडलिंग के क्षेत्र में आप निश्चित ही सफलता पा सकते हैं, बशर्ते आप में कठिन परिश्रम के साथ एक दीवानापन भी हो। यह दीवानगी आपको दौलत के साथ-साथ शोहरत भी दिलवा सकती है। लेकिन मॉडलिंग एक दिन की कला नहीं है। अभ्यास से ही इसे निखारा जा सकता है। दरअसल यह फील्ड शुद्घ रूप से आपके व्यक्तित्व (पर्सनेलिटी) से ही जुड़ी हुई है। यहां आप अपने आपको कैसे पेश करते हैं, यह ज्यादा महत्त्वपूर्ण होता है।
क्या गुण होने चाहिए?
आपका चेहरा फोटोजेनिक होना चाहिये। प्रारम्भ में मॉडलों का चयन फोटो देख कर ही किया जाता है। उसके बाद रैम्प पर उतरने के पूर्व कई परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है। इसमें व्यक्तित्व को खास रूप से परखा जाता है। अच्छी हाइट, फिटनेस, फिगर एवं खूबसूरत चेहरा होने के साथ ही ‘प्लीजिंग’ एवं ‘स्माइलिंग पर्सनेलिटी’ भी इस क्षेत्र में लुभाने की क्षमता रखती है। मॉडलिंग में ‘बॉडी लेंग्वेज’ का भी खास महत्त्व होता है। आपकी हर अदा को मॉडलिंग के दौरान परखा जाता है।
शुरुआत कैसे करें?
स्कूल-कॉलेज में आयोजित मिस्टर फ्रेशर, मिस्टर कॉलेज, मिस कैम्पस जैसी छोटी-मोटी सौन्दर्य प्रतियोगिताओं से आप शुरुआत कर सकते हैं। यहां आपके व्यक्तित्व को बखूबी परखा जाता है। इसके लिये आपको हर क्षेत्र की पर्याप्त जानकारी भी होनी चाहिए। ‘प्रेजेन्स ऑफ माइंड’ भी यहां महत्त्वपूर्ण होता है। मॉडलिंग के लिए सबसे पहले एक पोर्टफोलियो की जरूरत पड़ती है। एक अच्छा फोटोग्राफर ऐसा फोलियो बना देता है। इस पर आने वाला खर्च लगभग 20 हजार रुपये हो सकता है। एक पेशेवर मॉडल बनने के लिए काफी पैसा खर्च होता है।
मॉडलिंग में स्थापित होने के लिए क्या करें?
मॉडलिंग एक कला है और किसी काल को किसी संस्था विशेष से नहीं सीखा जा सकता। वे मॉडल, जिनमें जन्मजात प्रतिभा होती है, उन्हें किसी खास ग्रूमिंग की जरूरत नहीं होती। हां, व्यावहारिक अनुभवों के साथ ही कई कोर्स इस दिशा में लाभ जरूरत पहुंचा सकते हैं। किसी कुशल कोरियोग्राफर का साथ एक मॉडल को उन्नति के शिखर पर पहुंचा सकता है। वही मुख्य रूप से गाइड करता है कि मॉडल की भूमिका क्या होगी। रैम्प पर चलने के लिए विशिष्ट वॉक (कैटवॉक) को निखारने की जिम्मेदारी भी उसकी होती है। मॉडलिंग के लिये आकर्षक फिगर के लिये जिम का सहारा लिया जा सकता है। ‘पर्सनेलिटी ग्रूमिंग’ एवं ‘ब्यूटी कल्चर’ का कोर्स भी इस क्षेत्र में सफलता का साधन बन सकता है। मॉडलिंग में कामयाब होने के लिए आपका सम्पर्क विज्ञापन-मॉडलिंग एजेन्सियों एवं मॉडल कोऑर्डिनेटरों से भी होना चाहिए। ‘ईवेन्ट मैनेजमेन्ट ग्रुप’ से आपका परिचय भी जरूरी है।
मॉडलिंग का भविष्य
मॉडलिंग इंडस्ट्री में सौन्दर्य प्रतियोगिताओं का खास स्थान है। पहले फैमिना मिस इंडिया प्रतियोगिता होती थी, अब ग्रासिम मिस्टर इंडिया, ग्लैडरैग्स, मिसेज इंडिया, मेट्रोपॉलिटन टॉप मॉडल जैसी राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के अलावा मिस वर्ल्ड, मिस यूनिवर्स, मिस इंडिया, एशिया पेसिफिक, ग्रासिम मिस्टर इंटरनेशनल जैसी अन्तरराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं हो रही हैं। मॉडलों के लिए अन्तरराष्ट्रीय बाजार में भी सुनहरे अवसर उपलब्ध कराने वाले अनेक दरवाजे खुले हैं।
फिल्म इंडस्ट्री की पुरानी मान्यता थी कि सफल मॉडल एक अच्छा एक्टर या एक्ट्रेस नहीं बन सकता, मगर सुपर मॉडलों ने इस मान्यता को तोड़ कर फिल्म इंडस्ट्री में भी अपने कदम जमा लिये।
ऐश्वर्या राय, सुष्मिता सेन, प्रियंका चोपड़ा, जॉन अब्राहम, अर्जुन रामपाल, डिनो मोरिया- इन सभी मॉडलों ने मॉडलिंग को एक नया आयाम प्रदान किया है, जिससे मॉडलिंग का भविष्य अब पहले की अपेक्षा ज्यादा सुरक्षित हो गया है।
प्रमुख संस्थान
कैटवॉक,
हौजखास एन्क्लेव, नई दिल्ली
द रैम्प
गुलमोहर पार्क,नई दिल्ली
प्लेटिनम मॉडल्स,
शिवालिक,नई दिल्ली
अदिति मॉडलिंग सर्विस
बेंग्लुरू
ओजोन मॉडल्स मैनेजमेंट
सान्ता क्रूज (पश्चिम), मुम्बई
वाईएसजी वर्ल्डवाइड मॉडल एण्ड प्रमोशन एजेंसी
मुम्बई
एजुकेशन लोन
आमतौर पर इसके लिए एजुकेशन लोन नहीं मिलता, पर कुछ निजी कंपनियां आपके टेलेंट को देख कर आपके साथ कॉन्ट्रेक्ट साइन कर सकती हैं।
कुछ कॉरपोरेट घराने न्यू कमर्स को प्रमोट करने के लिए मॉडलिंग सौन्दर्य प्रतियोगिता में विजयी लोगों को सपोर्ट भी करते हैं, लेकिन यह सपोर्ट विशुद्घ व्यावसायिक होती है।
संभावनाएं
मॉडलिंग एक अल्पकालीन पेशा है। एक निश्चित उम्र और समय तक ही आप मॉडलिंग कर सकते हैं, लेकिन अब धीरे-धीरे इसका विस्तार हो रहा है। एक मॉडल भविष्य में मॉडल कोऑर्डिनेटर बन कर इस इंडस्ट्री में जम सकता है और मॉडलिंग और फैशन से जुड़े इंस्टीट्यूट भी खोल सकता है, जहां भावी मॉडल्स को सफलता के नये-नये गुर सिखा कर अच्छी कमाई भी कर सकते हैं।
आय
कम समय में जितना ज्यादा फेम और पैसा मॉडलिंग पेशे में है, उतना किसी और लाइन में नहीं। पुराने स्थापित मॉडलों को चन्द मिनटों में ही ढाई लाख से अधिक रुपये मिलते हैं, जबकि तीन-चार साल पुराने जमे मॉडल भी एक लाख से भी अधिक कमा लेते हैं। जो बिल्कुल नये हैं, लेकिन धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं, उन्हें भी 50-60 हजार मिल जाते हैं। कुल मिला कर आपकी प्रसिद्घि ही मॉडलिंग इंडस्ट्री में आपकी कीमत तय करती है।
एक्सपर्ट व्यू
शौकिया मॉडल्स की अब इंडस्ट्री को जरूरत नहीं
इस क्षेत्र का व्यापक विस्तार हो रहा है, इसलिये पूरी तैयारी के साथ इस फील्ड में आएं।
परवेज के., फैशन फोटोग्राफर और कोऑर्डिनेटर
परवेज क़े ने आज से 10 साल पहले एक फैशन फोटोग्राफर के रूप में अपना करियर शुरू किया, लेकिन धीरे-धीरे इन्होंने मॉडल कोऑर्डिनेटर के रूप में खुद की पहचान बना ली। परवेज के आज स्थापित फैशन फोटोग्राफर और मॉडल कोऑर्डिनेटर हैं। शुरुआती दौर में परवेज ने फैशनिस्ता मॉडलिंग एंड फैशन इंस्टीटय़ूट के साथ काफी काम किया। धीरे-धीरे इन्होंने देश के जाने-माने फैशन मॉडल्स अमित रंजन, मींटू तोमर, सिद्घान्त, साहिबा सिंह, सोनल सिंह जैसे जाने-माने मॉडलों के साथ काम किया। परवेज देश-विदेश के कई जाने-माने ब्रांड, इगले शूज, कनेडियन ब्रांड गोर्गी के साथ भी काम कर चुके हैं।
इस क्षेत्र में फैशन फोटोग्राफर और मॉडल कोऑर्डिनेटर की क्या भूमिका होती है?
मॉडल को बनाने में फैशन फोटोग्राफर और मॉडल कोऑर्डिनेटर की सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। मॉडल कोऑर्डिनेटर जहां एक फ्रैशर मॉडल को काम दिलाने में सहायक की भूमिका निभाता है, वहीं फैशन फोटोग्राफर उसका एक अच्छा पोर्टफोलियो बना देता है, ताकि मॉडल को काम मिलना शुरू हो जाये। मॉडल का सिर्फ अच्छा दिखना ही काफी नहीं है, उसे प्रोफेशनली खुद को ‘कैरी’ करना भी आना चाहिए।
मॉडलिंग के लिए युवाओं को कैसे तैयारी करनी चाहिए?
मॉडलिंग के क्षेत्र में आने वाले युवाओं को मैं यही कहना चाहूंगा कि अब इस क्षेत्र का व्यापक विस्तार हो रहा है, इसलिये पूरी तैयारी के साथ इस फील्ड में आएं। शौकिया मॉडल्स की अब इंडस्ट्री को जरूरत नहीं है। अब हमें भी अन्य क्षेत्रों की तरह यहां भी प्रोफेशनल्स की जरूरत है।

Popular posts from this blog

जैव प्रौद्योगिकी में कैरियर

वनस्पति में करियर