Tuesday, April 11, 2023

डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग

डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग कोर्स उन छात्रों के लिए उपलब्ध है जो केमिकल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। इस कोर्स में छात्रों को केमिकल इंजीनियरिंग के नीचे अनुभव करने के लिए सिलेबस उपलब्ध होता है। छात्र इस कोर्स से अधिकृत नौकरियों में लगातार बढ़ते हैं।

 

इस कोर्स का सिलेबस संयुक्त राज्य में उपलब्ध संस्थाओं द्वारा प्रदान किया जाता है जिनमें शामिल हैं राज्य तकनीकी शिक्षा बोर्ड, राज्य विश्वविद्यालय आदि।

 

इस कोर्स के विषयों में शामिल हैं:

 

रसायन विज्ञान

बियोचेमिस्ट्री

थर्मोडायनमिक्स

विद्युत रसायन

वास्तविक विज्ञान

रसायन उपकरण

अवकलनीय विज्ञान

परिचालन तंत्र

केमिकल विश्लेषण

रसायन प्रक्रिया नियंत्रण

इस कोर्स की अधिकतम अवधि दो साल होती है और इसमें चार सेमेस्टर होते हैं।

डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग एक तकनीकी पाठ्यक्रम है जो छात्रों को केमिकल इंजीनियरिंग में विशेषज्ञता प्रदान करता है। इस पाठ्यक्रम के माध्यम से छात्रों को केमिकल प्रक्रियाओं, उपकरणों, यंत्रों, सुरक्षा, और उत्पादन की प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी दी जाती है। यह पाठ्यक्रम उन छात्रों के लिए बहुत उपयोगी होता है जो उच्च शिक्षा के बाद इस क्षेत्र में नौकरी करना चाहते हैं।

 

इस पाठ्यक्रम में पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष में छात्रों को व्यवसायिक प्रशिक्षण के लिए भेजा जाता है, जो उन्हें विभिन्न केमिकल इंडस्ट्रीज में रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

 

इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत निम्नलिखित विषयों पर जानकारी दी जाती है:

 

केमिकल प्रक्रियाएँ

इंजीनियरिंग के लिए गणित

केमिकल इंजीनियरिंग में इंटरमीडिएट प्रक्रियाएँ

केमिकल इंजीनियरिंग में थर्मोडायनेमिक्स

केमिकल इंजीनियरिंग में थर्मोडायनेमिक उत्पादन

यहां डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग के अधिक विस्तृत विषय दिए जा रहे हैं:

 

रसायन विज्ञान का परिचय

इंजीनियरिंग गणित

रसायन इंजीनियरिंग थर्मोडायनमिक्स

रसायन इंजीनियरिंग किनेटिक्स

विशेष रसायन विज्ञान

विशेष इलेक्ट्रॉनिक्स

रसायन इंजीनियरिंग प्रक्रियाएं

रसायन इंजीनियरिंग उत्पाद प्रक्रियाएं

परियोजना विकास और नियोजन

अधिकतम संभावित और अनुकूल उपयोग के लिए रसायन इंजीनियरिंग

इन विषयों के अलावा डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग में और भी विषय हो सकते हैं जो कि संबंधित संस्थानों द्वारा विवरण दिए जा सकते हैं।

 

इस कोर्स को आप कई संस्थानों से कर सकते हैं, जैसे कि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, संगणक और विज्ञान संस्थान आदि। इन संस्थानों में से कुछ हिंदी माध्यम के कोर्स भी प्रदान करते हैं।

डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग के लिए निम्नलिखित संस्थानों से कोर्स कर सकते हैं:

 

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IITs)

भारतीय इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (BITS)

दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (DIT)

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (NITs)

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय

जमिया मिलिया इस्लामिया

राजस्थान तकनीकी यूनिवर्सिटी

इन संस्थानों के अलावा अन्य विश्वविद्यालय और कॉलेज भी डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग कोर्स प्रदान करते हैं।


No comments:

Post a Comment

BA in Animation and Graphic Design