Sunday, December 13, 2015

रंग जमाएं, खूब कमाएं

मैरिज, बर्थ डे, वेडिंग रिसेप्शन, एनिवर्सरीज जैसे समारोहों के अलावा प्राइवेट पार्टीज, प्रोडक्ट्स की लॉन्चिंग, चैरिटी इवेंट्स, सेमिनार्स, एग्जीबिशंस, सेलिब्रिटी शोज, इंटरनेशनल आर्टिस्ट शोज, रोड शोज, कॉम्पिटिशंस की बढती संख्या को देखते हुए कहा जा सकता है कि इस फील्ड में इवेंट मैनेजमेंट कंपनियों और इवेंट मैनेजर्स की डिमांड जोरदार तरीके से बढ रही है। हालांकि, इसके लिए अलग-अलग एक्सप‌र्ट्स की जरूरत होती है। इस क्षेत्र की सबसे बडी विशेषता यह है कि इसमें असंभव जैसा कोई शब्द नहीं होता। कठिन से कठिन आयोजनों को सफलतापूर्वक साकार कराना एक अच्छे व कुशल इवेंट मैनेजर की पहचान होती है। पहले इवेंट मैनेजर की मांग केवल कॉरपोरेट क्षेत्र के आयोजनों में ही होती थी, लेकिन अब बर्थडे पार्टी से लेकर बडे-बडे कार्यक्रमों में भी एक्सप‌र्ट्स की सहायता ली जाती है। तेजी से बढती कारोबारी गतिविधियों में भी विशेष तरह के आयोजनों को शिद्दत से महसूस किया जाता है। खास बात यह है कि अब छोटे शहरों में भी इवेंट मैनेजमेंट के लोकप्रिय होने के बाद इस क्षेत्र में अनुभवी लोगों की मांग बढी है। इस क्षेत्र का एक आकर्षक पहलू यह भी है कि इसके अंतर्गत आप जो कुछ भी करते हैं, वह सबके सामने होता है और अच्छे काम की हर कोई सराहना करता है।
ख्ास वर्ग, खास आयोजन
इवेंट मैनेजमेंट से जुडे लोग किसी व्यावसायिक या सामाजिक समारोह को एक खास वर्ग के दर्शकों के लिए आयोजित करते हैं। इसके अंतर्गत मुख्य रूप से फैशन शो, संगीत समारोह, विवाह समारोह, थीम पार्टी, प्रदर्शनी, कॉरपोरेट सेमिनार, प्रॉडक्ट लॉन्चिंग, प्रीमियर आदि कार्यक्रम आते हैं। एक इवेंट मैनेजर समारोहों का प्रबंधन करता है और क्लाइंट या कंपनी के बजट के अनुरूप सुविधाएं प्रबंध करने का जिम्मा लेता है। इवेंट मैनेजमेंट कंपनी किसी पार्टी या समारोह की प्लानिंग से लेकर उस पर इम्प्लीमेंटेशन तक का काम करती है। होटल या बैंक्वेट हॉल बुक करने, साज-सज्जा, एंटरटेनमेंट, बे्रकफास्ट/लन्च/डिनर के लिए खास तरह के मेन्यू तैयार करवाने, अतिथियों का स्वागत, भांति-भांति से सत्कार आदि की व्यवस्था इवेंट मैनेजमेंट गु्रप में शामिल लोगों को करनी होती है।
बढता स्कोप
इस समय भारत में 300 से अधिक इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां काम कर रही हैं। अनुमान है कि देश में इसका कारोबार 60-70 प्रतिशत वार्षिक की दर से बढ रहा है। नब्बे के दशक में जहां यह केवल 20 करोड रुपये की इंडस्ट्री थी, वहीं आज इस इंडस्ट्री का टर्नओवर 700 करोड रुपये से अधिक हो गया है। इस इडंस्ट्री के ग्रोथ  रेट को देखते हुए फिक्की का अनुमान है कि यह अगले दो से तीन वर्षो में 3500 करोड रुपये से अधिक का हो जाएगा।
मैनेजमेंट स्किल
  इवेंट मैनेजमेंट में किस्मत संवारने के लिए किसी विशेष योग्यता की जरूरत नहीं है। सिर्फ कुशल प्रबंधन क्षमता एवं नेटवर्किग स्किल्स आपको कामयाब बना सकता है। ऐसे स्नातक छात्र, जिनमें जनसंपर्क और संयोजन का हुनर हो, वे आसानी से इस व्यवसाय से जुड सकते हैं। बढते पार्टी कल्चर और इसके लिए इवेंट मैनेजमेंट कंपनी की सेवाएं लेने से अब अनेक संस्थानों ने कई तरह के डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा, पार्ट टाइम कोर्सेज, ग्रेजुएशन और पोस्ट-गे्रजुएशन कोर्स शुरू कर दिए हैं। अब इस क्षेत्र में एमबीए की डिग्री भी दी जाने लगी है, जो इवेंट मैनेजमेंट के लिए सबसे असरदार डिग्री है। वैसे, फिलहाल ये कोर्स हर जगह सुलभ नहीं हैं। ऐसे में किसी इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में ट्रेनिंग लेकर काम सीखा जा सकता है और अनुभव हासिल करने के बाद रेगुलर जॉब या अपनी खुद की इवेंट मैनेजमेंट कंपनी संचालित की जा सकती है।
उपलबध कोर्स
डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट (डीईएम) एक वर्ष की अवधि का कोर्स है, जिसमें एडमिशन के लिए कम से कम किसी भी स्ट्रीम स्नातक होना चाहिए। पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट (पीजीडीईएम) भी एक वर्ष का कोर्स है और इसके लिए भी आपको स्नातक होना जरूरी है। 6-6 माह के सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स भी चलाए जा रहे हैं, जिसमें प्रवेश के लिए मिनिमम योग्यता बारहवीं है। अधिकतर संस्थानों में ये सभी कोर्स पार्ट टाइम में करने की सुविधा उपलब्ध है। एमबीए युवा इस सेक्टर में लीडर की भूमिका निभा सकते हैं। वे इसमें पब्लिक रिलेशन और मार्केटिंग के क्षेत्र में सफलतापूर्वक काम कर सकते हैं।
कोर्स डिटेल्स
इवेंट मैनेजमेंट के क्षेत्र में मूल रूप से दो शाखाएं होती हैं-पहला, लॉजिस्टिक मैनेजमेंट, जिसके अंतर्गत समारोह स्थल, सेलिब्रिटीज, दर्शकों, कार्यक्त्रम का प्रचार आदि का प्रबंध करना सम्मिलित है। दूसरा, मार्केटिंग, जिसमें मीडिया के माध्यमों द्वारा इवेंट का प्रचार-प्रसार तथा आयोजनों का प्रबंध शामिल होता है। इसमें पोस्ट ग्रेजुएट से संबंधित पाठ्यक्रमों में इवेंट मार्केटिंग, पब्लिक रिलेशनशिप तथा स्पांसरशिप, इवेंट कोऑर्डिनेशन, इवेंट प्लॉनिंग, इवेंट टीम रिलेशनशिप, इवेंट अकाउंटिंग आदि की सैद्धांतिक और व्यावहारिक ट्रेनिंग दी जाती है। इस दौरान छात्रों को फिल्म अवॉर्ड समारोह, फैशन शो, ज्यूलरी प्रदर्शन तथा कॉरपोरेट इवेंट्स जैसे बडे समारोहों के लिए काम करने का अवसर मिलता है।
करियर स्कोप
एक दक्ष व्यक्ति किसी इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में मैनेजर का पद या बडे होटल समूह या कॉरपोरेशन में कंसल्टेंट की नौकरी हासिल कर सकता है या फिर स्वतंत्र रूप से भी कार्य कर सकता है। इस क्षेत्र में प्रवेश के बाद शुरुआत में प्रशिक्षु के रूप में कार्य करना पडता है। उसके बाद प्रमोशन पाकर कोऑर्डिनेटर बन जाता है। इन दिनों इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां इस पद पर बडी संख्या में युवाओं को नियुक्त कर रही हैं। भारत में एक इवेंट मैनेजर का प्रमुख कार्य क्षेत्र इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां, होटल इंडस्ट्रीज, एडवरटाइजिंग कंपनियां, पीआर फर्म, टीवी चैनल्स, कॉरपोरेट्स हाउसेज, मीडिया हाउसेज आदि हैं। इवेंट मैनेजर के रूप में आप फैशन शो का आयोजन एवं मैगजींस के लिए अवॉर्ड समारोह का आयोजन कर सकते हैं। इसके अलावा एक पब्लिक रिलेशन प्रबंधक के रूप में मीडिया एडवरटाइजिंग एजेंसी एवं टूरिज्म क्षेत्र के लिए कार्य कर सकते हैं। विदेशों में एक इवेंट मैनेजर के तौर पर आप प्रमुख कंपनियों के लिए कोऑर्डिनेटर के रूप में कार्य कर सकते हैं।
कमाई का क्रेज
इस उभरते क्षेत्र में वेतन की कोई सीमा नहीं है। पारिश्रमिक का आधार आयोजन किए जाने वाले समारोह की विविधता होती है। अपनी काबिलियत के दम पर आप इसमें सफलता की बुलंदी छू सकते हैं। कोर्स के बाद फ्रेशर्स मैनेजर दस से पंद्रह हजार रुपये प्रति माह अर्जित करते हैं। एक बार इस व्यवसाय में कदम जमाने और अनुभव प्राप्त करने के बाद इवेंट मैनेजर अपने दम पर 50,000 से लेकर 1,00,000 प्रतिमाह कमाई कर सकता है। इसमें सब कुछ मैनेजर की कार्यकुशलता एवं उसकी नेटवर्किग क्षमता पर निर्भर करता है।
प्रमुख संस्थान
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, नंदनवन बिल्डिंग, अंसारी रोड, विले पार्ले, मुंबई।
इवेंट मैनेजमेंट डेवॅलेपमेंट इंस्टीट्यूट, 791, एस.के. मार्ग बांद्रा (पश्चिमी) मुंबई।
नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर मीडिया स्टडीज, पंचधारा कॉम्प्लेक्स, एस.जी. हाइवे, अहमदाबाद।
इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, एच-12, साउथ एक्सटेंशन, पार्ट-1, नई दिल्ली।
कॉलेज ऑफ इवेंट ऐंड मैनेजमेंट, लेन-11, प्रभात रोड, पुणे।
इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, जुहू कैम्पस, जुहू तारा रोड, सांताक्रूज (पश्चिमी), मुंबई।
इंटरनेशनल सेंटर फॉर इवेंट मार्केटिंग ऐंड मार्केटिंग, 6/14, द्वितीय तल, सर्वप्रिय विहार, नई दिल्ली