अंतरिक्ष क्षेत्र में बनाएं करियर

जयपुर। अंतरिक्ष और उसमें होने वाली घटनाएं बेशक मानव के लिए कौतूहल का विषय रही हैं लेकिन समय अब वह नहीं रहा जब इंसान सिर्फ आसमान की ओर देखकर हैरान ही होता था। आज अंतरिक्ष से जुड़े तमाम रहस्य धरती पर रहने वाले मानव द्वारा सुलझाए जा रहे हैं। 

इस क्षेत्र मे होने वाली नई-नई खोजों और रहस्यों से उठते हुए पर्दों ने युवा पीढ़ी को इसकी ओर आकर्षित किया है। इस क्षेत्र के बढ़ते महत्व के कारण ही 2007 में भारत में एशिया के पहले स्पेस इंस्टीटयूट \"इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी\" की स्थापना की गई।

यदि आप भी अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाना चाहते हैं तो आईआईएसटी में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। क्योंकि इसमें ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने वाली है।

कोर्स और योग्यता-
तिरूवनंतपुरम स्थित आईआईएसटी में स्पेस साइंस की तीन मुख्य शाखाओं से जुड़े बीटेक प्रोग्राम्स संचालित हैं। चार साल की अवधि वाले प्रोग्राम और उनमें सीटो की संख्या इस प्रकार है - 
एयरोस्पेस इंजीनियरिंग-60 सीट, एवियॉनिक्स-60 सीट, फिजिकल साइंसेज-36 सीट

आईआईएसटी के बीटेक प्रोग्राम्स में प्रवेश की सबसे पहली योग्यता आपका फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्य विषयों में कम से कम 70 फीसदी अंकों के साथ 12वीं या समकक्ष होना है। इसके बाद आपने जेईई मेन्स दिया हो और जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई किया हो। जेईई एडवांस में भी न्यूनतम अंकों की अनिवार्यता रखी गई है-
:-सामान्य जाति तीनों विषयों में 5 फीसदी अंक, एग्रीगेट -20 फीसदी 
:-ओबीसी-नॉन क्रीमीलेयर ओबीसी तीनों विषयों में 4.5 फीसदी अंक, एग्रीगेट - 18 फीसदी 
:-एससी, एसटी, शारिरीक विकलांग तीनों विषयों में 2.5 फीसदी अंक और एग्रीगेट- 10 फीसदी। 

निर्धारित योग्यता के बाद ही आप प्रवेश की पात्रता रख सकते हैं।

कैसे होगा चयन-
आईआईएसटी में प्रवेश के लिए चयन मुख्यत: सीबीएसई द्वारा तैयार की जाने वाली ऑल इंडिया रैंक के आधार पर होगा लेकिन प्रवेश के लिए जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई किया होना जरूरी है। आवेदन उन्हीं का मान्य होगा जिन्होंने आधिकारिक वेबसाइट पर अपना रजिस्ट्रेशन भी करवाया होगा। इसके बाद आईआईएसटी अपनी रैंक लिस्ट तैयार करेगा और आवेदकों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा।

कैसे करें आवेदन-
ऑनलाइन आवेदन के लिए डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.आईआईएसटी.एसी.आईएन पोर्टल पर रजिस्टे्रशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन के समय आपके पास आईआईटी मेन्स और एडवांस दोनों का रोल नंबर होना जरूरी है। यहां अपनी डिटेल्स भरने के बाद चालान का प्रिंट आउट लें। फॉर्म भरने के अगले दिन एसबीआई या यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में चालान के जरिए आवेदन शुल्क जमा कराएं। चालान की डिटेल्स एप्लीकेशन वाले पोर्टल पर जाकर डालें और संस्थान की कॉपी पीडीएफ या जेपीईजी फॉर्मेट में स्कैन करके अपलोड कर दें।

मिलेगी आर्थिक मदद-
आईआईएसटी में बीटेक के दौरान स्टूडेंट्स की पढ़ाई, हॉस्टल और मेडिकल कवर का खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाता है। यदि स्टूडेंट यहां पढ़ने के दौरान ग्रेड प्वाइंट एवरेज स्केल पर 10 में से 7.5 प्वाइंट लाने में विफल रहता है तो यह आर्थिक मदद बंद की जा सकती है। यहां से बीटेक करने वाले स्टूडेंट्स को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और अंतरिक्ष विभाग से जुड़ने के अवसर मिलता है। देश-विदेश के प्रतिष्ठित संस्थानों से उच्च शिक्षा ग्रहण करने के भी अवसर हैं।

अगर आप भी अंतरिक्ष को गहराई से समझना चाहते हैं तो आप स्पेस साइंस और टेक्नोलॉजी की पढ़ाई कर सकते हैं। बीटेक प्रोग्राम्स चलाया जाता है। बारहवीं के बाद आप इसमें प्रवेश ले सकते हैं। आपके पास अपने सपनों को पाने का और उन्हें साकार करने का सुनहरा मौका है।

गौर करें कि आईआईएसटी के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आगामी 8 जून, 2014 को शुरू होनी है और रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 7 जुलाई, 2014 रहने की संभावना है

कैसे करें आवेदन
आईआईएसटी के एमटेक या एमएस प्रोग्राम में आवेदन के लिए आप http://www.iist.ac.in/admissions/postgraduate/regularपर जाएं। यहां ऑनलाइन एप्लीकेशन का लिंक दिया है। यहां अपना फॉर्म भरें, फोटो, साइन आदि अपलोड करें। इसे जमा करवाने के बाद एक रजिस्ट्रेशन नंबर व लॉगइन पासवर्ड मिलेगा। इसकी मदद से अब कोर्स रजिस्टे्रशन करवाएं। फिर चालान से एप्लीकेशन फीस जमा करवाएं और फिर मुहर लगे चालान की कॉपी वेबसाइट पर अपलोड करें। ऑनलाइन आवेदन आठ मई तक करें। एप्लीकेशन फीस 14 मई 2015 तक भरी जा सकती है। आवेदन और भुगतान समय रहते कर दें

Popular posts from this blog

जैव प्रौद्योगिकी में कैरियर

वनस्पति में करियर