Wednesday, July 29, 2015

इवेंट मैनेजर

यदि  किसी की पार्टियों को रोशन करने में रूचि है, और वह इसमें करियर भी बनाना चाहता है, तो इवेंट मैनेजर एक अच्च्छा विकल्प है। ग्रेजुएशन के बाद एक साल का कोर्स करके इवेंट मैनेजर बना जा सकता है। पहले इवेंट मैनेजर की मांग केवल कॉर्पोरेट क्षेत्र के आयोजनों में ही होती थी, लेकिन अब छोटे शहरों में भी मैरिज, बर्थ डे, वेडिंग रिसेप्शन, एनिवर्सरीज, प्राइवेट पार्टीज की बढ़ती संख्या को देखते हुए कहा जा सकता है कि इस फील्ड में बेहतर करियर है।

कार्य
इवेंट मैनेजमेंट से जुड़े लोग किसी व्यवसायिक या सामाजिक समारोह को एक खास वर्ग के दर्शकों के लिए आयोजित करते हैं। इसके अंतर्गत मुख्य रूप से फैशन शो, संगीत समारोह, विवाह समारोह, थीम पार्टी, प्रदर्शनी, कॉर्पोरेट सेमिनार, प्रोडक्ट लॉन्चिंग, प्रीमियर आदि कार्यक्रम आते हैं। एक इवेंट मैनेजर समारोहों का प्रबंधन करता है और क्लाइंट या कंपनी के बजट के अनुरूप सुविधाएं प्रबंध करने का जिम्मा लेता है। इवेंट मैनेजमेंट कंपनी किसी पार्टी या समारोह की प्लानिंग से लेकर उसे इम्प्लीमेंट करने तक का काम करती है। होटल या बैंक्वेट हॉल बुक करने, साज-सज्जा, एंटरटेनमेंट, ब्रेकफास्ट /लन्च/डिनर के लिए खास तरह के मेन्यू तैयार करवाने, अतिथियों का स्वागत, भांति-भांति से सत्कार आदि की व्यवस्था इवेंट मैनेजमेंट ग्रुप में शामिल लोगों को करनी होती है।

कोर्स व योग्यता
इवेंट मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए कई तरह के कोर्स चलाए जा रहे हैं। इनमें डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट (डीईएम) एक वर्ष की अवधि का कोर्स है, जिसमें एडमिशन के लिए कम से कम किसी भी स्ट्रीम में स्नातक होना जरूरी है। पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट (पीजीडीईएम) भी एक वर्ष का कोर्स है और इसके लिए भी कंडीडेट का स्नातक होना जरूरी है। इसके अलावा, 6-6 माह के सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स भी चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रवेश के लिए न्यूनतम योग्यता बारहवीं है। अधिकतर संस्थानों में ये सभी कोर्स पार्ट टाइम में करने की भी सुविधा है, जिसे किसी जॉब या अन्य कोर्स की पढ़ाई के साथ-साथ भी किया जा सकता है। अब इस क्षेत्र में एमबीए की डिग्री भी दी जाने लगी है, जो इवेंट मैनेजमेंट के लिए सबसे असरदार डिग्री है। फिलहाल ये कोर्स हर जगह सुलभ नहीं हैं। ऐसे में किसी इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में ट्रेनिंग लेकर काम सीखा जा सकता है और अनुभव हासिल करने के बाद रेगुलर जॉब या अपनी खुद की इवेंट मैनेजमेंट कंपनी संचालित की जा सकती है।

व्यक्तिगत गुण
इवेंट मैनेजमेंट में किस्मत संवारने के लिए किसी विशेष योग्यता की जरूरत नहीं है। सिर्फ कुशल प्रबंधन क्षमता एवं नेटवर्किग स्किल्स कामयाब बना सकता है। ऐसे स्नातक छात्र, जिनमें जनसंपर्क और संयोजन का हुनर हो, वह आसानी से इस व्यवसाय से जुड़ सकते हैं।

अवसर
वर्तमान समय में 300 से अधिक इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां भारत में काम कर रही हैं। अनुमान है कि इस समय देश में इसका कारोबार 60-70 प्रतिशत वार्षिक की दर से बढ़ रहा है।

कमाई
फ्रेशर्स आसानी से कम से कम 10,000 रुपये प्रति माह कमा सकते हैं। और यदि किसी बड़ी कंपनी में नौकरी मिल गई, तो 15,000 रुपये या इससे ज्यादा भी मिल सकते हैं। अनुभव प्राप्त करने के बाद इवेंट मैनेजर के पद पर पहुंच सकते हैं, तब एक महीने में ही एक लाख रुपये कमाया जा सकता है। और यदि कंपनी खोल ली जाय, तो अच्छी कमाई के साथ अपना भविष्य तो बना ही सकते हैं साथ ही दूसरों का भी भविष्य बुलंद कर सकते हैं। सच तो यह है कि यह एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें वेतन और कमाई की कोई सीमा नहीं है।

संस्थान
 1. एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, नई दिल्ली
 2. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई
 3. इवेंट मैनेजमेंट डेवलॅपमेंट इंस्टीट्यूट, मुंबई
 4. नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर मीडिया स्टडीज, अहमदाबाद
 5. इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
 6. कॉलेज ऑफ इवेंट एंड मैनेजमेंट, पुणे
 7. इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई
 8. नेशनल एकेडमी ऑफ इवेंट मैनेजमेंट एंड डेवलॅपमेंट, जयपुर
 9. इंटरनेशनल सेंटर फॉर इवेंट मार्केटिंग एंड मार्केटिंग, नई दिल्ली
 10. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई