Monday, May 8, 2023

परिवहन इंजीनियरिंग

 परिवहन इंजीनियरिंग को वाहन अभियांत्रिकी या वाहन इंजीनियरिंग भी कहा जाता है। यह शामिल है वाहनों के डिजाइन, निर्माण, उपयोग, उनके सुरक्षा मानकों, उनकी बेहतर चालकी और ऊर्जा प्रबंधन जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित करती है।

 

परिवहन इंजीनियरिंग में विभिन्न विषय होते हैं जैसे कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, ऑटोमोटिव इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी। छात्रों को वाहनों के बारे में विस्तृत ज्ञान प्रदान किया जाता है ताकि वे उनके निर्माण, रचना और चालकी के लिए उच्च दक्षता से काम कर सकें।

 

इस बीटेक पाठ्यक्रम की अवधि चार से पांच वर्ष होती है। इसमें प्रथम दो वर्ष कोर्स वर्ष होता है जिसमें विद्यार्थी प्राथमिक पाठ्यक्रम से शुरुआत करते हुए वाहन इंजीनियरिंग के बुनियादी सिद्धांतों के साथ परिचित होते हैं।

परिवहन इंजीनियरिंग एक बहु-विषय है, जिसमें शामिल हैं वाहनों के डिज़ाइन, निर्माण, विकास, संचालन और उनके सुरक्षा मानकों के बारे में अध्ययन किया जाता है। इसमें सही और सुरक्षित परिवहन की तकनीकों, वाहनों, सामग्री और उपकरणों का अध्ययन शामिल होता है।

 

इसके अंतर्गत निम्नलिखित विषय शामिल होते हैं:

 

वाहन इंजीनियरिंग: वाहनों के निर्माण, उनके संरचना, नक्शे बनाना, उनके अंगों के विकास, इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम आदि पर ध्यान केंद्रित होता है।

ट्रांसपोर्टेशन इंजीनियरिंग: इसमें संचार और विविध प्रकार के परिवहन सिस्टम जैसे रेल, हवाई जहाज, जलयान आदि के डिज़ाइन, निर्माण, संचालन और निरीक्षण को शामिल होता है।

रोड सेफ्टी इंजीनियरिंग: इसमें सड़क सुरक्षा, सड़कों के निर्माण, यातायात के प्रबंधन और उनकी सुरक्षा, सड़क चालकों और उनके साथियों की सुरक्षा आदि पर ध्यान केंद्रित होता है।

परिवहन इंजीनियरिंग एक विस्तृत इलाका है जो सड़क, रेल, जल और हवा यातायात समेत अन्य परिवहन विधियों से संबंधित शिक्षा और तकनीकों का अध्ययन करता है। यह इंजीनियरिंग के कई शाखाओं से संबंधित होता है जैसे कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, साइबर सुरक्षा, इलेक्ट्रॉनिक्स, स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग आदि।

 

इस इलाके में सड़क वाहनों की तकनीक, उनकी सुरक्षा, संचार तंत्र और ट्रांसपोर्टेशन प्लानिंग के विभिन्न पहलुओं को समझने के लिए प्रदर्शनियों और लेक्चर का आयोजन किया जाता है। रेलवे अभियांत्रिकी में, रेल के निर्माण, संचार तंत्र और आपूर्ति श्रृंखला के साथ-साथ नवीनतम टेक्नोलॉजी और परिवहन अनुप्रयोगों का अध्ययन किया जाता है। जलयान इंजीनियरिंग में, जलयान के निर्माण, अभिलेख और उनकी संरचना के लिए तकनीकी जानकारी प्राप्त की जाती है।

 

आप भारत में कई इंजीनियरिंग कॉलेजों और विश्वविद्यालयों से परिवहन इंजीनियरिंग के संबंधित पाठ्यक्रम कर सकते हैं। कुछ प्रमुख पाठ्यक्रमों के नाम हैं:

 

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर

बीएमएस कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग, बेंगलुरु

डेटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मुंबई

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, ट्रिची

इन संस्थाओं के अलावा आप अन्य संस्थाओं जैसे स्टेट अनिवार्य टेक्निकल इंस्टिट्यूट्स, राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज आदि से भी यह कोर्स कर सकते हैं।

No comments:

Post a Comment

BA in Animation and Graphic Design