Saturday, February 5, 2022

कार्टोग्राफी में करियर

कार्टोग्राफी मैप्स और उनसे संबद्ध हरेक चीज़ का अध्ययन है. आजकल, मैप्स को तैयार करने और इस्तेमाल करने के तरीकों में काफी बदलाव आये हैं. पुराने जमाने में भौतिक और पेपर-बेस्ड मैप्स होते थे लेकिन आजकल सभी मैप्स, चाहे वे लोकल मैप्स हों या फिर ग्लोबल मैप्स, डिजिटल मैप्स होते हैं और हमारे मोबाइल ऐप्स पर उपलब्ध हैं. जब भी आप किसी नये शहर या फिर, अपने शहर की किसी अपरिचित जगह जाना चाहते हैं तो आप अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने मोबाइल एप पर निर्भर करते हैं. मैप्स डिजिटल होने के साथ ही अब इस कोर्स द्वारा कार्टोग्राफर्स के लिए मैप तैयार करने का बिलकुल नया तरीका प्रस्तुत किया है. हालिया बदलावों को ध्यान में रखकर कार्टोग्राफी और मैप-मेकिंग के कोर्सेज में भी काफी बदलाव आया है. आइये भारत में उपलब्ध टॉप कार्टोग्राफी कोर्सेज के बारे में विस्तार से चर्चा करें:

कार्टोग्राफी क्या है?      

कार्टोग्राफी शब्द दो फ्रेंच शब्दों अर्थात ‘कार्टे’ और ‘ग्राफी’ से मिलकर बना है. ‘कार्टे’ शब्द का अर्थ ‘मैप’ या ‘एक कार्ड’ है और ‘ग्राफी’ शब्द ‘डिस्क्रिप्टिव साइंस’ का एक रूप है. इसलिये, कार्टोग्राफी के तहत जनरल यूजर्स के लिए मैप्स बनाने की स्टडी और प्रैक्टिस को शामिल किया जाता है. एक स्टडी फील्ड के तौर पर, कार्टोग्राफी में साइंटिफिक और आर्टिस्टिक तत्वों के मिश्रित रूप को शामिल किया जाता है. इस फील्ड में इमेज प्रोसेसिंग की स्टडी और एप्लीकेशन, डाटा का विजूअल डिस्प्ले, डाटा कैप्चर और डाटा मैनिपुलेशन को शामिल किया जाता है.

आप कार्टोग्राफी में कोर्स क्यों करें?  

जो मैप्स पुराने जमाने में केवल सेलर्स और नेविगेटर्स के द्वारा इस्तेमाल किये जाते थे, वे आजकल हरेक व्यक्ति के लिए जरुरी साधन हो गए हैं. मैप्स की मदद से कोई स्थान ढूंढने वाले लोगों के अलावा, आजकल मैप्स का इस्तेमाल टूरिस्ट्स, मौसम की रिपोर्ट तैयार करने के लिए, रेलवे लाइन्स बिछाने के लिए, फ्लाइट्स-पाथ्स के निर्धारण के लिए और समुद्री-व्यापार के रुट्स निर्धारित करने के लिए भी काफी ज्यादा किया जाता है. सरल शब्दों में, कार्टोग्राफी अभी भी काफी महत्वपूर्ण विषय है और स्टूडेंट्स को करियर के काफी अवसर उपलब्ध करवाता है. 

कार्टोग्राफी में कौन से कोर्सेज उपलब्ध हैं?

जो स्टूडेंट्स जियोग्राफी में इंटरेस्टेड हैं, उनके लिए कार्टोग्राफी एक बहुत लोकप्रिय कोर्स विकल्प है. अधिकांश मामलों में, कार्टोग्राफी को जियोग्राफी के उप विषय के तौर पर अंडरग्रेजुएट और डिप्लोमा लेवल पर शामिल किया जाता है लेकिन, कुछ कॉलेज डिप्लोमा, ग्रेजुएट और मास्टर्स लेवल पर कार्टोग्राफी में स्पेशलाइज्ड कोर्सेज भी ऑफर करते हैं. जो स्टूडेंट्स कार्टोग्राफी में अध्ययन करना चाहते हैं, उनके लिए कुछ बेहतरीन कोर्सेज निम्नलिखित हैं:

कार्टोग्राफी में सर्टिफिकेट लेवल कोर्सेज

• कार्टोग्राफी में सर्टिफिकेट कोर्स

  • योग्यता: जियोग्राफी विषय के साथ 10 + 2
  • कोर्स की अवधि: 3 महीने से 1 वर्ष

कार्टोग्राफी में डिप्लोमा लेवल कोर्सेज

• जियोइनफॉर्मेटिक्स में डिप्लोमा

  • योग्यता: जियोग्राफी विषय के साथ 10 + 2
  • कोर्स अवधि: 2-3 साल

कार्टोग्राफी में ग्रेजुएट लेवल कोर्सेज

• बीई जियोइनफॉर्मेटिक्स

  • योग्यता: जियोग्राफी के साथ 10 + 2
  • कोर्स अवधि: 4 साल

• बीटेक जियोइनफॉर्मैटिक्स फॉर्मेटिक्स

  • योग्यता: जियोग्राफी के साथ 10 + 2
  • कोर्स अवधि: 4 साल

• बीएससी जियोग्राफी

  • योग्यता: जियोग्राफी के साथ 10 + 2
  • कोर्स अवधि: 3 साल

• बीए जियोग्राफी

  • योग्यता: जियोग्राफी के साथ 10 + 2
  • कोर्स अवधि: 3 साल

कार्टोग्राफी में मास्टर्स लेवल कोर्सेज

• जियोग्राफिकल कार्टोग्राफी में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा

  • योग्यता: ग्रेजुएशन की डिग्री
  • कोर्स अवधि: 2 साल

• एमए जियोग्राफी

  • योग्यता: ग्रेजुएशन की डिग्री
  • कोर्स अवधि: 2 साल

• एमई जियोइनफॉर्मेटिक्स

  • योग्यता: ग्रेजुएशन की डिग्री
  • कोर्स अवधि: 2 साल

• एमएससी जियोग्राफी

  • योग्यता: ग्रेजुएशन की डिग्री
  • कोर्स अवधि: 2 साल

• एमएससी जियोइनफॉर्मेटिक्स

  • योग्यता: ग्रेजुएशन की डिग्री
  • कोर्स अवधि: 2 साल

• एमटेक: रिमोट सेंसिंग और जियोग्राफिकल इनफॉर्मेशन सिस्टम (जीआईएस)

  • योग्यता: ग्रेजुएशन की डिग्री
  • कोर्स अवधि: 2 साल

कौन से स्टूडेंट्स कार्टोग्राफी का कोर्स कर सकते हैं?

जैसेकि ऊपर चर्चा की गई है, भारत में कार्टोग्राफी के विभिन्न कोर्सेज उपलब्ध हैं. इन कोर्सेज हेतु  योग्यता संबंधी शर्ते, प्रत्येक कोर्स की आवश्यकता के अनुसार अलग-अलग हैं. लेकिन, आमतौर पर, अंडरग्रेजुएट कोर्सेज के लिए, स्टूडेंट्स ने 12वीं क्लास का बोर्ड एग्जाम या संबद्ध क्वालीफाइंग एग्जाम आवश्यक विषयों सहित पास किया हो. सीमित सीट्स के साथ महत्वपूर्ण विषय होने के कारण, स्टूडेंट्स को कार्टोग्राफी के विभिन्न कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम्स भी पास करने होते हैं. 

कार्टोग्राफी का कोर्स कहां से करें?

जहां तक भारत का संबंध है, यहां कई अलग-अलग कॉलेज और हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन्स हैं जो कार्टोग्राफी और मैप बनाने में स्पेशलाइज्ड कोर्सेज ऑफर करते हैं. कार्टोग्राफी में विभिन्न कोर्सेज ऑफर करने वाले टॉप कॉलेजेज और इंस्टीट्यूट्स हैं:

यूनिवर्सिटी/ इंस्टीट्यूट

कोर्सेज

अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, चेन्नई

मास्टर ऑफ साइंस (एमएससी) जियोइनफॉर्मेटिक्स साइंस

बर्धवान यूनिवर्सिटी - बर्धमान

मास्टर ऑफ साइंस- रिमोट सेंसिंग एंड जियोग्राफिक इनफॉर्मेशन सिस्टम

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ सर्वेइंग एंड मैपिंग, हैदराबाद

एमटेक (जियोमैटिक्स) / एमएससी (जियोस्पेशियल साइंस)

इंडियन इंस्टीट्यूट, बॉम्बे

विभिन्न कोर्सेज

जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, दिल्ली

कार्टोग्राफी में डिप्लोमा

एमएस यूनिवर्सिटी, वडोदरा

कार्टोग्राफी में डिप्लोमा

नॉर्थ उड़ीसा यूनिवर्सिटी, बरिपदा

रिमोट सेंसिंग एंड जियोग्राफिकल इनफॉर्मेशन सिस्टम में मास्टर ऑफ साइंस

उस्मानिया यूनिवर्सिटी, हैदराबाद

जियोग्राफिकल कार्टोग्राफी में डिप्लोमा

पंडित रवि शंकर शुक्ला यूनिवर्सिटी, रायपुर

रिमोट सेंसिंग एंड जियोग्राफिकल इनफॉर्मेशन सिस्टम में पोस्टग्रेजुएट  डिप्लोमा

सैम हिगिनबोटम इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चर, इलाहाबाद

रिमोट सेंसिंग एंड जियोग्राफिकल इनफॉर्मेशन सिस्टम में पोस्टग्रेजुएट  डिप्लोमा

कार्टोग्राफी कोर्स के लिए विदेशी इंस्टीट्यूट्स

भारतीय कॉलेजेज के अलावा, कई अंतर्राष्ट्रीय लेवल के प्रसिद्ध विदेशी इंस्टीट्यूशन्स हैं जो कार्टोग्राफी में बेहतरीन कोर्सेज ऑफर करते हैं. कुछ टॉप इंस्टीट्यूट्स और कोर्सेज का विवरण आपकी सहूलियत के लिए नीचे दिया जा रहा है.

कॉलेज/ इंस्टीट्यूट

कोर्सेज

ब्रिघम यंग यूनिवर्सिटी – यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका

कार्टोग्राफी में बैचलर डिग्री

फ्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी - यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका

  कार्टोग्राफी में मास्टर डिग्री

मास्को स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ जियोडेसी एंड कार्टोग्राफी (एमआईआईजीएआईके)

  विभिन्न कोर्सेज

टेक्सास ए एंड एम यूनिवर्सिटी - यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका

  कार्टोग्राफी में बैचलर डिग्री

विस्कॉन्सिन यूनिवर्सिटी – मेडिसन - यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका

 कार्टोग्राफी में बैचलर डिग्री और कार्टोग्राफी में मास्टर डिग्री

कार्टोग्राफी कोर्सेज में कैसे लें एडमिशन?

आमतौर पर, प्रत्येक यूनिवर्सिटी या इंस्टीट्यूट जो कार्टोग्राफी में कोर्स ऑफर करता है, अपने इंस्टीट्यूट में एडमिशन देने के लिए उसका अपना सिलेक्शन प्रोसीजर होता है. कई इंस्टीट्यूट्स कैंडिडेट्स की स्क्रीनिंग और सिलेक्शन के लिए अपने एंट्रेंस एग्जाम्स आयोजित करते हैं या कैंडिडेट्स को एडमिशन देने के लिए अन्य पॉपुलर एंट्रेंस एग्जाम्स के स्कोर्स एक्सेप्ट करते हैं.

भारत में कई बेहतरीन कार्टोग्राफी कोर्सेज उपलब्ध होने के साथ-साथ विदेशों में इंडियन स्टूडेंट्स के पसंदीदा पॉपुलर स्टडी इंस्टीट्यूट्स होने के कारण, अपने लिए सही कोर्स चुनना अब उतना मुश्किल नहीं रहा जितना कि आप सोचते हैं. अगर आपको मैप्स में रूचि है और आपके पास बढ़िया क्रिएटिव एवं मैथमेटिकल स्किल्स हैं तो कार्टोग्राफी में कोई कोर्स करने पर, आपको अपने लिए एक शानदार करियर बनाने में काफी मदद मिल सकती है

No comments:

Post a Comment

BA in Animation and Graphic Design