Wednesday, November 29, 2017

एस्ट्रोनॉमी में करियर

एस्ट्रोनॉमी के फील्ड में जाने के लिए फिजिक्स और मैथ्स के साथ ग्रेजुएशन करना जरूरी है। पीजी लेवल पर आपके पास विषय के तौर पर एस्ट्रोनॉमी या फिजिक्स का होना जरूरी है। अगर आपने इसमें पीएच.डी. कर रखी है तो और भी अच्छी बात है। एस्ट्रोनॉमर या एस्ट्रोनॉट आदि बनने या स्पेस रिसर्च में काम करने के लिए आपको ज्वाइंट एंट्रेंस स्क्रीनिंग टेस्ट (जेईएसटी) देना पड़ेगा। पीजी लेवल पर एस्ट्रोनॉमी या एस्ट्रोफिजिक्स में एमएससी के लिए देश में नीचे दिए गए संस्थान उपलब्ध हैं।

इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ एस्ट्रोफिजिक्स, बेंग्लुरू, www.iiap.ernet.in
आंध्र यूनिवर्सिटी, विशाखापट्टनम
इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ जियोमैग्नेटिज्म, www.iigm.res.in
इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ साइंस, बेंग्लुरू, www.iisc.ernet.in
इंटर यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स, गणेशखिंड, पुणे www.iucaa.ernet.in
सत्येन्द्र नाथ बोस नेशनल सेंटर फॉर बेसिक साइंस, कोलकाता, www.bose.res.in
इंस्टीटय़ूट ऑफ फिजिक्स, भुवनेश्वर www.iopb.res.in
नेशनल सेंटर फॉर रेडियो एस्ट्रोफिजिक्स, टाटा इंस्टीटय़ूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (टीआईएफआर) पुणे और बेंग्लुरू www.tifr.res.in
आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीटयूट ऑफ ऑब्सव्रेशनल साइंसेज, नैनीताल, www.csr.ernet.in
बिरला इंस्टीटय़ूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंसेज, पिलानी
ओस्मानिया यूनिवर्सिटी, सेंटर फॉर एडवांस्ड स्टडी इन एस्ट्रोनॉमी, हैदराबाद
पंजाबी यूनिवर्सिटी, पटियाला
इसके अलावा इग्नू से फिजिक्स में ग्रेजुएशन, पीजी और डॉक्टरेट कर सकते हैं। इग्नू के अलावा भी डिस्टेंस एजुकेशन के अधिकृत केंद्रों से इसकी शिक्षा ले सकते हैं। इग्नू एस्ट्रोफिजिक्स में एमएससी- पीएचडी भी
कराता है।
मैं दसवीं का छात्र हूं और लॉन टेनिस में करियर बनाना चाहता हूं। मुझे सरकारी और प्राइवेट स्पोर्ट्स एकेडमी के बारे में बताएं। साथ ही भारतीय खेल प्राधिकरण (साई), ओएनजीसी, पीएसपीबी और झारखंड की सेंट्रल स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में दाखिले की संभावनाओं की जानकारी भी दें।
सुधांशु, वैशाली
देश में अलग -अलग खेलों के लिए कई प्राइवेट एकेडमी हैं, जैसे टेनिस के लिए 
महेश भूपति टेनिस एकेडमी
टीम टेनिस
पेनिनसुला टेनिस एकेडमी, नई दिल्ली 
सीरी फोर्ट, नई दिल्ली 
नेशनल टेनिस एकेडमी, गुड़गांव
एस टेनिस एकेडमी, अहमदाबाद

www.acetennisacademy.com
एसपीटी स्पोर्ट्स  www.sptindia.com
ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन, नई दिल्ली
मैं ग्यारहवीं का छात्र हूं और एनडीए में करियर बनाना चाहता हूं। इसके लिए कौन-सी परीक्षा पास करनी होती है। यह परीक्षा क्या मैं ग्यारहवीं में भी दे सकता हूं । मुझे यह भी बताएं कि उत्तराखंड राज्य में यह परीक्षा कहां कराई जाती है?
दिपांशु, अल्मोड़ा


आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में भर्ती के लिए यूपीएससी साल में दो बार एनडीए की परीक्षा आयोजित करता है। उसके लिए निम्न योग्यताओं का होना जरूरी है
अभ्यर्थी को भारत (कुछ शर्तों के साथ नेपाल और भूटान के लोग भी) का नागरिक होना चाहिए।
उसे अविवाहित होना चाहिए।
उसकी उम्र सोलह साल छह महीने से लेकर उन्नीस साल के बीच होनी चाहिए।
आर्मी में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी का इंटर पास होना जरूरी है। अगर नेवी या एयर फोर्स में जाना चाहते हैं तो इंटर में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स सब्जेक्ट का होना अनिवार्य है।
इंटर की परीक्षा में शामिल होने जा रहे लोग भी एनडीए का एग्जाम दे सकते हैं। एग्जाम के दो हिस्से होते हैं, पहला लिखित और दूसरा इंटरव्यू और फिजिकल ट्रेनिंग। लिखित परीक्षा पास करने के बाद आप इंटरव्यू और फिजिकल ट्रेनिंग के पात्र हो जाते हैं। ग्रेजुएशन के बाद सीडीएस एग्जाम के जरिए भी सेना में शामिल हुआ जा सकता है। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में इसका परीक्षा केंद्र है। अधिक जानकारी के लिए इसकी वेबसाइट (www.upsc.gov.in) देख सकते हैं।
मैंने सीबीएसई बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स सब्जेक्ट्स से इस साल 88% से इंटर पास किया है। मैं मरीन इंजीनियरिंग में करियर बनाना चाहता हूं। मुझे बताएं कि इस कोर्स के लिए कौन-कौन से संस्थान हैं और उनमें दाखिले की क्या प्रक्रिया है? 
आशीष कुमार, हजारीबाग
मरीन इंजीनियरिंग में समुद्री जहाज के निर्माण और इसके काम करने के तरीके सिखाए जाते हैं। एक मरीन इंजीनियर को समुद्र में जहाज को पूरी तरह कंट्रोल करना आना चाहिए। मरीन इंजीनियरिंग में डिग्री लेने के बाद मर्चेट नेवी या किसी शिपिंग कंपनी में काम किया जा सकता है। इसके अलावा इंजन प्रोडक्शन फर्म्स, शिप बिल्डिंग फर्म्स, रिसर्च बॉडीज और शिप डिजाइन फर्म्स में भी रोजगार के अवसर मिलते हैं। मरीन इंजीनियरिंग में बीई या बीटेक करने के बाद असिस्टेंट इंजीनियर की परीक्षा दे सकते हैं। इसमें बेचलर डिग्री के लिए पीसीएम ग्रुप में इंग्लिश के साथ इंटर करना जरूरी है। उसके बाद इन संस्थानों से चार साल का कोर्स कर सकते हैं।
मरीन इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टीटय़ूट, कोलकाताhttp://www.merical.ac.in
मरीन इंजीनियरिंग एंड रिसर्च इंस्टीटय़ूट, मुंबई
इंटरनेशनल मरीन कम्युनिकेशन सेंटर, चेन्नई
इंडियन मरीन कॉलेज, हैदराबाद