मॉडलिंग में करियर

सुंदर-सुंदर पोशाकों में खूबसूरत चेहरे जब दर्शकों के सामने आते हैं तो अपनी नपी-तुली चाल से रैम्प पर चलते हुए उनके दिलों में उतर जाते हैं। फिर चाहे वे किसी फैशन डिजाइनर के लिए मॉडलिंग कर रहे हों या किसी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के लिए। रौशनी, चकाचौंध, नाम-पहचान और ग्लैमर से भरा मॉडलिंग का प्रोफेशन सभी को, खासकर युवाओं को शुरू से ही अपनी ओर काफी आकर्षित करता रहा है, लेकिन इन दिनों दूसरे उद्योगों की फैशन शोज में बढ़ती रुचि के कारण आज उनके सामने बतौर करियर मॉडलिंग में ढेरों विकल्प हैं।
न सिर्फ फैशन, बल्कि आज हर बड़ी कंपनी को अपने नए उत्पादों या सेवाओं को एन्डोर्स करने के लिए खूबसूरत मॉडल्स की जरूरत होती है। नाम और पैसे के साथ-साथ इस क्षेत्र में मॉडल्स को घूमने और नए-नए लोगों के साथ काम करने का मौका मिलता है। ग्लिट्ज मॉडलिंग एजेंसी एंड एकेडमी, नई दिल्ली के संस्थापक प्रणव अवस्थी का कहना है, ‘आज एक फ्रेशर अपने एक शो के लिए 10 से 15 हजार रुपये कमा सकता है, वहीं कुछ जाने-माने चेहरे भारतीय बाजार में भी प्रति शो 60 से 70 हजार रुपये कमाते हैं। नाम के साथ-साथ पैसा एक ऐसा फैक्टर है, जिसकी वजह से युवा मॉडलिंग की ओर आकर्षित होते हैं। वैसे भी पहले के मुकाबले अब मॉडलिंग सिर्फ रैम्प तक सीमित नहीं है। टीवी कॉमर्शियल्स, प्रिंट एडवर्टाइजिंग, टीवी धारावाहिकों आदि के रूप में भी कई विकल्प मौजद हैं।’
कैसे करें शुरुआत
मॉडलिंग की दुनिया से जुड़े लोगों का मानना है कि अगर आप मॉडलिंग की दुनिया में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको 12वीं के बाद ही इस दिशा में बढ़ जाना चाहिए, क्योंकि यहां किसी विशेष शैक्षिक योग्यता की आवश्यकता नहीं है। लेकिन यहां अपना भविष्य बनाने के लिए जरूरी है कि लड़कियों की लंबाई 5.6 फुट और लड़कों की 5.10 फुट हो। इसके अलावा आपका चेहरा और रंग दोनों साफ होने चाहिए तथा शरीर भी बिल्कुल फिट हो। तभी आप रैम्प मॉडलिंग के बारे में सोचें। मॉडलिंग के क्षेत्र में उतरने से पहले आप स्कूल और कॉलेज के स्तर पर ही फैशन शोज और थिएटर में भाग लें। कम उम्र से ही फोटो शूट्स में भाग लेना भी आपके लिए फायदेमंद रहेगा।
प्रशिक्षण 
इसके लिए कोई आधिकारिक प्रशिक्षण फिलहाल मौजूद नहीं है। बावजूद इसके कुछ प्रशिक्षण केंद्र या संस्थान हैं, जहां मॉडलिंग के क्षेत्र के साथ लंबे समय से जुड़े नाम आपको मॉडलिंग जगत से रूबरू होने में मददगार साबित हो सकते हैं। यह केंद्र मुख्य तौर पर दिल्ली और मुंबई में हैं। ये केंद्र आपको ग्रूमिंग, पर्सनेलिटी डेवलपमेंट, मेकअप टिप्स, कैमरा फेसिंग में प्रशिक्षण मुहैया कराते हैं। फैशन जगत में अपना नाम कमाने के लिए जरूरी है कि इन पाठय़क्रमों के अलावा आपके मॉडलिंग की दुनिया से जुडम्े दूसरों लोगों के साथ संपर्क भी हों।
फीस
15 सेशन के किसी पाठय़क्रम के लिए जहां आपको 15 हजार रुपये तक फीस देनी पड़ सकती है, वहीं 2 महीने के पाठय़क्रम के लिए आपको 50 हजार रुपये तक देने पड़ेंगे।
संभावनाएं 
मॉडलिंग की दुनिया में आप उत्पाद एडवर्टाइजिंग से लेकर लाइव फैशन शोज, म्यूजिक वीडियोज, गार्मेट फेयर्स और टीवी धारावाहिकों या फिल्मों में काम कर सकते हैं। इस उद्योग जगत में लंबे समय तक बने रहने के बाद जब आप काफी अनुभवी हो जाते हैं तो अपना स्कूल, केंद्र या संस्थान भी खोल सकते हैं, जहां मॉडल बनने की इच्छा रखने वाले युवाओं को प्रशिक्षण दिया जा सकता है। अनुभवी मॉडल्स चाहें तो अपनी मॉडल कोऑर्डिनेटिंग एजेंसी भी शुरू कर सकते हैं।
वेतन 
शुरुआत में आपको प्रति शो 5 से 10 हजार रुपये मिल सकते हैं। वैसे यह शो के स्तर व ब्रांड पर भी निर्भर करता है। वहीं अनुभव के साथ यह बढ़ कर 50 हजार रुपये प्रति शो तक पहुंच सकता है।
प्रमुख संस्थान एवं उनकी वेबसाइट
देश में कई मॉडलिंग एजेंसियां हैं, जिन्होंने मॉडल को-ऑर्डिनेटिंग की अपनी भूमिका को बढ़ाते हुए मॉडल्स को प्रशिक्षित करने का काम शुरू किया है। इनमें प्रमुख रूप से फेस 1, ओजोन मॉडल्स मैनेजमेंट, एलीट मॉडल मैनेजमेंट इंडिया, कैटवॉक, ग्लिट्ज, प्लैटिनम मॉडल्स, ग्लैडरैग्स मीडिया, दी रैम्प आदि शामिल हैं।
क्राफ्ट: सेंटर फॉर रिसर्च इन आर्ट ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, दिल्ली
ग्लैडरैग्स मीडिया लिमिटेड, मुंबई
http://www.gladrags.in/careeracademy.php
मेहर भसीन एकेडमी, दिल्ली
www.meyharbhasinacademy.co.in/contact.htm
आर.के. फिल्म एंड मीडिया एकेडमी, दिल्ली
www.rkfma.com/fashion-modelling-for-ramp.html
ग्लिट्ज मॉडलिंग एजेंसी एंड एकेडमी, दिल्ली

Popular posts from this blog

जैव प्रौद्योगिकी में कैरियर

वनस्पति में करियर