फ्रंट ऑफिस मैनेजर

फ्रंट ऑफिस मैनेजर पर किसी भी संस्थान को व्यवस्थित रखने की जिम्मेदारी होती है। यदि आप जिम्मेदारियों को निभाने में रुचि रखते हैं तो यह क्षेत्र एक बेहतर करियर प्रदान कर सकता है। बता रहे हैं पंकज घिल्डियाल
करियर काउंसलर डॉं. संजय सिंह बघेल के अनुसार फ्रंट ऑफिस मैनेजर किसी भी कंपनी का वह चेहरा होता है, जो ग्राहक और उपभोक्ता से सीधे जुड़ा होता है। इससे मार्केटिंग, सेल्स और सर्विस के प्रोफेशनल्स भी जुड़े होते हैं और इसका मुख्य काम होता है संबंधित संस्थान के सभी विभागों से कोऑर्डिनेशन स्थापित करते हुए ग्राहक की जरूरतों के हिसाब से उनका मार्गदर्शन करना।
दरअसल फ्रंट ऑफिस मैनेजर ही अपने यहां आने वाले अतिथियों को अपनी विशेषताओं के बारे में बताते और उन्हें जरूरी सूचनाएं देते हैं। इतना ही नहीं, वे बिल संबंधी हिसाब-किताब पर भी नजर रखते हैं। फ्रंट ऑफिस मैनेजर युवाओं के लिए एक उभरता हुआ करियर है। होटल हो, कोई बड़ा हॉस्पिटल या फिर किसी बड़े ईवेंट का आयोजन, फ्रंट ऑफिस मैनेजर ऐसी जगहों के लिए एक जरूरत बन चुके हैं।
आने वाले अतिथियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, इसके लिए फ्रंट ऑफिस मैनेजर अपने वॉकी-टॉकी के साथ मुस्तैद नजर आते हैं। कंपनी के मानकों का पालन करते हुए अपनी सेवा से संतुष्ट करने में जी जान से जुटे रहना इनकी कार्यशैली का हिस्सा होता है। होटल के फ्रंट ऑफिस मैनेजर आने वाले गेस्ट का स्वागत करते हैं, उनका रिजर्वेशन करते हैं, उनके चेक इन और चेक आउट की व्यवस्था देखते हैं, सिक्योरिटी विंग व अन्य को चाबी सौंपते और वापस लेते है और ग्राहकों को आवश्यक संदेश देते हैं। एक तरह से वह हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री का स्माइलिंग फेस होते हैं।
योग्यता
फ्रंट ऑफिस मैनेजर के लिए जिन कोर्सेज में दाखिला लिया जाता है, उसके लिए आपका मान्यता प्राप्त बोर्ड या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट होना जरूरी है। हिंदी-इंग्लिश भाषा के अलावा अन्य भाषाओं के ज्ञान से आपको हमेशा प्राथमिकता मिलेगी। आपकी बेहतर कम्युनिकेशन स्किल आपको तरक्की की राह में आगे बढ़ाएगी।
इस इंडस्ट्री में कामयाब होने के लिए कुछ व्यक्तिगत गुणों का होना भी बहुत आवश्यक है, जिनमें से प्रमुख है मृदुभाषी और विनम्र होना।
कार्यशैली
फ्रंट ऑफिस मैनेजर फ्रंट ऑफिस ऑपरेशन को देखता है और कंपनी के बिजनेस प्लान के अनुसार हर काम को व्यवस्थित रखता है। फ्रंट ऑफिस का लीडर होने के नाते वहां से दी जाने वाली सर्विसेज की अप टू डेट जानकारी रखता है। अतिथियों को वह यह महसूस कराने की कोशिश करता है कि यही वह जगह है, जहां उनका सबसे बेहतर ख्याल रखा जाता है। वह मुस्कुराते हुए अतिथियों का स्वागत करता है। मेहमान उसके लिए बहुत खास होते हैं और वह उन्हें यह अहसास कराने की कोशिश करता है कि वे सही जगह  आए हैं और वहां उनका सबसे अच्छा ख्याल रखने की कोशिश की जा रही है। वह अपनी पूरी टीम को ट्रेनिंग देता है कि किस तरह से फोन पर बात करनी है, आमने-सामने कैसे बात करनी है और यदि कोई शिकायत है तो उसे कैसे सुना और दूर किया जाए। फ्रंट ऑफिस मैनेजर होटल के अन्य विभागों के साथ बेहतर तालमेल बनाए रखने की कोशिश करता है, क्योंकि वह जानता है कि ऐसा न करने पर अतिथि को उसकी मनपसंद सेवा देने में चूक हो सकती है। मैनेजमेंट के पास रूम ऑक्यूपेंसी की रोजाना, साप्ताहिक व मासिक रिपोर्ट यहीं से जाती है। होटल मैनेजमेंट अभ्यर्थियों के लिए फ्रंट ऑफिस भी एक विभागीय विकल्प है, जहां से करियर को ऊंचाई मिलती है।
कोर्सेज
होटल मैनेजमेंट 12वीं के बाद कर सकते हैं। ग्रेजुएशन के बाद और भी रास्ते खुल जाते हैं यानी पोस्ट ग्रेजुएशन, डिप्लोमा, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा आदि सभी मौजूद हैं। डिप्लोमा, डिग्री और पीजी कोर्सेज में प्रमुख हैं-
बीसएसी इन होटल मैनेजमेंट
एमएससी इन हॉस्पिटैलिटी एडमिनिस्ट्रेशन
होटल रिसेप्शन एंड बुक कीपिंग
काउंटर सर्विस में एक वर्षीय डिप्लोमा
डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट
इसके अलावा पीजी डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, फ्रंट ऑफिस एंड टूरिज्म मैनेजमेंट, एकॉमोडेशन ऑपरेशन जैसे कोर्स भी उपलब्ध हैं।
नौकरी के अवसर
होटल मैनेजमेंट कोर्स करने के बाद ही फ्रंट ऑफिस मैनेजर बना जा सकता है, इसलिए इसमें अवसरों की कोई कमी नहीं है। मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, होटल, राज्यों के पर्यटन विभाग से लेकर एविएशन तक में अनगिनत जॉब्स हैं। फास्ट फूड चेन जैसे-केएफसी,पिज्जा हट, मैकडॉनल्ड आदि में ढेर सारे अवसर मौजूद हैं। इसके अलावा  बैंक, रेलवे, बड़े संस्थानों में कैटरिंग, एयरलाइंस, मॉल्स, मल्टीप्लेक्स, हेल्थ क्लब जैसी जगहों पर रोजगार के अनेक अवसर मौजूद हैं। विदेशों में भी होटल मैनेजमेंट में डिग्री या डिप्लोमा कर चुके छात्रों की खूब मांग है। इस कोर्स को करने के बाद आप अपना रोजगार भी शुरू कर सकते हैं।
सेलरी
शुरुआती स्तर पर 12 हजार से लेकर 15 हजार रुपये तक का स्टाइपेंड मिलता है। पर जैसे-जैसे अनुभव बढ़ता है, वेतन में भी बढ़ोतरी होती रहती है। फ्रंट ऑफिस मैनेजर को मिलने वाली सेलरी इस बात पर निर्भर करती है कि वह किस तरह के होटल या संस्थान से जुड़ा है। इसमें आसानी से 40 हजार मासिक रुपये तक की सेलरी मिल सकती है।
एक्सपर्ट व्यू
करियर की संभावनाओं से भरपूर है यह क्षेत्र
आज फ्रंट ऑफिस मैनेजर की जरूरत छोटे से लेकर बड़े सभी तरह के संस्थानों में महसूस की जा रही है, इसलिए इस क्षेत्र में करियर की अपार संभावनाएं हैं। जिस तरह से सर्विस सेक्टर की डिमांड लगातार बढ़ रही है, ऐसे में इस क्षेत्र में नौकरियों की मांग भी लगातार बढ़ेगी। फ्रंट ऑफिस मैनेजर बनने के लिए आपको संबंधित डिप्लोमा या डिग्री कोर्स तो करना ही होगा, साथ ही पद से जुड़ी स्किल्स को भी विकसित करना होगा। यह पद काफी रोचक है। रोज नए-नए लोगों से मिलना भी कम रोमांचक नहीं है। अगर अवसरों की बात करें तो रिजॉर्ट से लेकर फाइव स्टार होटलों तक, हर राज्य के पर्यटन विभाग से लेकर एविएशन तक फ्रंट ऑफिस के लिए अनगिनत जॉब हैं। खाड़ी के देशों में फ्रंट ऑफिस मैनेजर की भारी मांग है।
-डॉ. संजय सिंह बघेल, करियर काउंसलर 
प्रमुख संस्थान
नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड केटरिंग टेक्नोलॉजी, नोएडा
वेबसाइट:
www.nchmct.org
आईईसी यूनिवर्सिटी, बद्दी, हिमाचल प्रदेश
वेबसाइट:
www.iecuniversity.com
कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट विभाग, कुरुक्षेत्र
वेबसाइट:
www.kuk.ac.in
एपीजी शिमला यूनिवर्सिटी, हिमाचल प्रदेश
वेबसाइट:
www.apg.edu.in
इग्नू, मैदान गढ़ी, नई दिल्ली
वेबसाइट:
www.ignou.ac.in

Popular posts from this blog

जैव प्रौद्योगिकी में कैरियर

वनस्पति में करियर