Sunday, January 10, 2016

स्पा थेरेपी में करियर

स्वस्थ रहने और स्वस्थ दिखने की चाह सभी की होती है। आज ऐसी कई थेरेपी मौजूद हैं, जिनके इस्तेमाल से न सिर्फ शरीर, बल्कि मन भी स्वस्थ रहता है। यही कारण है कि अब देश में वेलनेस इंडस्ट्री जोर पकड़ रही है और बतौर बिजनेस सामने आ रही है। इसी का एक हिस्सा है स्पा थेरेपी। कुशल लोगों की कमी से जूझ रही इस इंडस्ट्री में रोजगार की काफी संभावनाएं हैं।
स्पा थेरेपी क्या है?
स्पा थेरेपी के केंद्र में मुख्यत: मसाज, हाइड्रो थेरेपी, हाथों तथा पैरों के उपचार तथा चेहरे के लिए ब्यूटी ट्रीटमेंट शामिल है। इन थेरेपीज के माध्यम से हमारी मांसपेशियां, हड्डियां, पाचन प्रणाली, श्वसन प्रणाली, भावनात्मक, दिमागी और नाड़ी तंत्र बेहतर प्रदर्शन करते हैं। इनसे थकान, भारीपन, मांसपेशियों की कठोरता आदि समस्याएं खत्म होती हैं।
योग्यता
हालांकि क्वालिफाइड स्पा थेरेपिस्ट बनने के लिए कई कोर्स हैं, लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त संस्थानों से प्रशिक्षण लेना ही बेहतर होता है। आप हाईस्कूल करने के बाद भी कोर्सेज में प्रवेश ले सकते हैं।
कौशल
इस फील्ड में वही सफल हो सकता है, जो क्लाइंट की जरूरतों को समझ सके। क्लाइंट से विनम्र भाव से बात करने और उसकी आवश्यकताओं को ध्यान में रख कर उनकी पूर्ति करने में सफल हो सके। इसके अलावा कपड़े साफ रखने से लेकर चलने-फिरने के स्टाइल तक में आपको ध्यान बरतने की जरूरत है।
कोर्स में क्या करवाया जाता है
छात्रों को विभिन्न तरह की मसाज और स्पा थेरेपी के बारे में पढ़ाया जाता है और मसाज के जरिये उन स्थितियों को जांचने के बारे में भी बताया जाता है, जिनका इलाज करना है। कोर्स में एरोमा थेरेपी, मसल स्टिम्युलेशन, सेनिटेशन आदि को भी शामिल किया जाता है।
कार्य करने की अवधि
फुल टाइम स्पा थेरेपिस्ट का काम आठ से दस घंटे का होता है और सुबह की तुलना में शाम को अधिक काम रहता है। साथ ही वीकएंड में भी काम की अधिकता रहती है।
वेतन
स्पा थेरेपिस्ट में नए प्रशिक्षुओं को 10 से 14 हजार रुपये मासिक वेतन मिलता है। कुछ साल अनुभव प्राप्त करने के बाद उन्हें आसानी से 14 से 20 हजार रुपये मासिक मिल जाते हैं। यदि वे प्रबंधन के हिस्से हो जाते हैं तो उन्हें 30-80 हजार रुपये तक मिलते हैं।
अवसर
कोर्स करने के बाद इसमें जॉब की कमी नहीं रहती। ऐसे में जरूरी है कि आप खुद को कैसे अपडेट रखते हैं और क्लाइंट्स को किस तरह प्रभावित कर पाते हैं। स्पा थेरेपिस्ट को मसाज, ब्यूटी सैलून, हॉलिस्टिक हेल्थ क्लिनिक, फिटनेस सेंटर में नियुक्त किया जाता है।
इसके अलावा उन्हें खिलाडियों को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए खेल टीमों और स्पोर्ट्स क्लबों में भी रखा जाता है। नौकरी करने का मन न होने पर स्पा थेरेपिस्ट स्वतंत्र रूप से भी काम कर सकते हैं। अपनी इस भूमिका में वह क्लाइंट के घर जाकर या उसके कार्यस्थल पर पहुंच कर अपनी सेवाएं दे सकते हैं।
प्रमुख संस्थान
शहनाज हुसैन वुमन वर्ल्ड इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ब्यूटी
राष्ट्रीय नाटय़ विद्यालय, बहावलपुर हाउस, नई दिल्ली
भारती तनेजा एल्प्स एकेडमी ऑफ हेयर डिजाइनिंग एंड ब्यूटी, नई दिल्ली
ब्लॉसम कोचर्स पिवट प्वाइंट, चेन्नई
वीएलसीसी, दिल्ली, मुंबई
इंटरनेशनल फिनिशिंग एकेडमी, मुंबई 
पर्ल एकेडमी ऑफ फैशन
आईटीआई (इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीटय़ूट)
आनंदा स्पा इंस्टीटय़ूट्स, हैदराबाद
इस्पा स्पा एकेडमी, कोचीन
एलीट इंटरनेशनल स्कूल ऑफ ब्यूटी एंड स्पा थेरेपी, न्यूजीलैंड